आरोग्य संजीवनी पॉलिसी

वर्ष 2020 में आई.आर.डी.ए. ने आम आदमी के लिए एक साधारण स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी को लांच करने की घोषणा की थी जो 1 अप्रैल 2020 से बाजार में उपलब्ध है। यह पॉलिसी “आरोग्य संजीवनी पॉलिसी” के नाम से हर बीमा कंपनी द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही है।
भारतीय बीमा बाजार में अभी अनेकों हेल्थ पॉलिसी उपलब्ध हैं और लगभग सभी पॉलिसी के नियम अलग अलग हैं जिसके कारण एक आम इंसान को पॉलिसी का चुनाव करने में कठिनाई होती है। इसी को देखते हुए आई. आर. डी. ए. ने इस पॉलिसी – “आरोग्य संजीवनी पॉलिसी” को लॉन्च किया है। इस पॉलिसी के अंतर्गत हर कम्पनी को एक जैसे नियम ही लागु करने हैं सिर्फ प्रीमियम अलग अलग हो सकते हैं।

कौन कौन इस पॉलिसी को ले सकता है ?

कोई भी भारतीय जिसकी उम्र 18 वर्ष से 65 वर्ष के बीच है वह इस पॉलिसी को खरीद सकता है। यह पॉलिसी एकल और फ्लोटर रूप में उपलब्ध है।

आइये जाने कुछ महत्त्वपूर्ण बाते इस पॉलिसी के बारे में –

1. कवर की राशि – इस पॉलिसी के अंतर्गत पॉलिसी धारक रु 1 लाख से 5 लाख तक का बीमा कवर ले सकता है।
2. कैशलेस सुविधा – जी हाँ इस पॉलिसी के अंतर्गत कैशलेस सुविधा उपलब्ध है ।
3. मैटरनिटी कवर – जी नहीं इस पॉलिसी के अंतर्गत मैटरनिटी कवर उपलब्ध नहीं है।
4. नवीनीकरण – इस पॉलिसी का आप उम्र भर तक नवीनीकरण कर सकते हैं।
5. वेटिंग पीरियड – 30 दिन का वेटिंग पीरियड लागु होगा पॉलिसी जारी होने के बाद।
6. को- पेमेंट – 5% का को-पेमेंट लागु होगा।
7. एम्बुलेंस चार्ज – रु 2000 तक का एम्बुलेंस खर्च शामिल है।
8. प्री एवं पोस्ट होस्पिटलाइजेशन खर्च – 30 दिन प्री एवं 60 दिन पोस्ट होस्पिटलाइजेशन का खर्च शामिल है।
9. नो क्लेम बोनस – हर वर्ष 5% का नो क्लेम बोनस मिलेगा।

इस पॉलिसी के अंतर्गत क्या क्या शामिल नहीं है ?

इस पॉलिसी के अंतर्गत मेटरनिटी, वेट लॉस, प्लास्टिक सर्जरी आदि कई प्रकार के खर्च शामिल नहीं है।

क्या यह पॉलिसी खरीदना चाहिए ?

स्वास्थ्य बीमा चुनते समय हमें लम्बी अवधि का नजरिया रखना चाहिए और एक ऐसी पॉलिसी का चुनाव करना चाहिए जो हर पहलु पर अच्छी हो। आज के माहौल को देखते हुए हम अपने सभी निवेशकों और बीमा धारको को यही सलाह देते हैं की अपने लिए और परिवार के लिए कम से कम रु 10 लाख का स्वास्थ्य बीमा ख़रीदे । जिस प्रकार से जन धन खाते में सिवाए पैसा जमा और निकासी के अलावा कोई सुविधा नहीं है और वह खाता उन लोगो के लिए है जो मिनिमम बैलेंस वाला खाता नहीं खोल सकते, उसी प्रकार इस प्लान के अंतर्गत आपको बीमा तो मिलेगा पर कई बंदिशों के साथ। यह आरोग्य संजीवनी पॉलिसी उनके लिए है जो बीमा कंपनी के महंगे प्लान नहीं ले सकते पर उन्हें स्वास्थ्य बीमा खरीदना है। यह भी पढ़ें – कैसे चुने सही हेल्थ पॉलिसी?
आम तौर पर देखा गया है की लोग बिना सोचे समझे बीमा खरीद लेते हैं और फिर जब अस्पताल में भर्ती होने पर पैसा नहीं मिलता तब बीमा कंपनियों को कोसते हैं। इसीलिए हमारी सलाह होगी की अपनी जरुरत के हिसाब से बीमा कंपनी के प्लान को जांचे और उसके बाद ही किसी पॉलिसी का चुनाव करें।


लेखक –
आयुष भार्गव
सर्टिफाइड फाइनेंशियल प्लानर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *